🥇राजीव रंजन कुमार उर्फ JP Chandravanshi का इतिहास

स्वागत है आपका United Chandravanshi Association वेबसाइट पर। मैं निशांत चंद्रवंशी आज आपको श्री राजीव रंजन कुमार उर्फ जे पी चंद्रवंशी का इतिहास बताने जा रहा हूँ।

 

Subscribe to Youtub channel – Nishant chandravanshi

https://www.youtube.com/channel/UCF3XAA7OkxeIFMFX3GS7hyg

राजीव रंजन कुमार उर्फ जे पी चंद्रवंशी का इतिहास

राजीव रंजन कुमार जी बचपन से ही होनहार, मेहनती और ईमानदार व्यक्ति है। उनके गांव के आस पास के लोग बताते है की वो बचपन से ही पढ़ने में तेज़ थे। अपनी कक्षा में वो हमेशा प्रथम या प्रथम श्रेणी के आस पढ़ाई में नंबर लाते थे।

उनके गांव वाले ये भी बताते है की वो बचपन से ही दूर दूर गांव जा कर लोगो को मदद करते थे। कभी कभी वो पाठशाला न जा कर किसी जरुरत मंद को सहायता करने दूर के गांव चले जाते थे। ये बात उनके घर वालो का पता चला जिसके कारन वो बहुत डाट भी खाये थे।

राजीव रंजन कुमार जी का दूसरा नाम जे पी चंद्रवंशी भी है। आप कही भी न्यूज़ चैनल या न्यूज़ वेबसाइट पर आपको मिल जायेगा राजीव रंजन कुमार उर्फ जे पी चंद्रवंशी लिखा हुआ।

राजीव रंजन कुमार उर्फ जे पी चंद्रवंशी जी नालन्दा, बिहार के हिलसा जगह से है। इनकी उच्य शिक्षा Pandit Ravishankar Shukla University से हुई है।

Political History of Rajeev Ranjan Alias JP Chandravanshi

2006 में हिलसा विधानसभा (नालन्दा) से राजीव रंजन कुमार उर्फ जे पी चंद्रवंशी ने अपने बड़े भाई को चुनाव में खड़ा किये थे। उनके बड़े भाई हिलसा विधानसभा (नालन्दा) पुर्व प्रत्याशी रह चुके है।

साथ में मैं आपको ये भी बता दू की वो निर्दलीय प्रत्याशी भी थे। इनकी जीत पक्की थी मगर समय साथ नहीं दिया। पंचायत में कुल वोट 3796 आये थे जिसमें जे पी चंद्रवंशी के बाहर रहने के कारण 35 वोट से उनके बड़े भाई की हार हुई थी।

यु कहे तो सच्चे अद्द्मी को थोड़ा समय लगता है। सत्य परेशान हो सकता है पराजित नहीं। मुझे पूरी उम्मीद है की राजीव रंजन कुमार उर्फ जे पी चंद्रवंशी जी आनेवाले कल में एक बड़ा नेता के रूप में आएंगे। मैं इसलिए कह रहा हूँ क्यूंकि मैं उनको बहुत सालो से सामाजिक कार्य करते देख रहा हूँ। वो जमीनी कार्य करने में माहिर है।

 

धीरे धीरे समय बीतता गया और समाज को ले कर आगे बढ़ते गए। समाज के साथ हर पल बिताया उन्होंने। 2011 में राजीव रंजन कुमार जी पंचायत चुनाव में अपनी पत्नी को खड़ा किये जिसमें गांव पर नहीं रहने के कारण 26 वोट से हार हुई थी।

आपको मैं एक बात बता दू गांव का चुनाव और शहर का चुनाव दोनों में जमीन और आसमान का अंतर है। गांव में एक छोटी सी बात भी गांव के हर इंसान को पता चल जाता है। वो अपने परिवार साथ गांव से शहर आना पड़ा जिसके कारन चुनाव में हार हुई।

अखिल भारतवर्षीय चंद्रवंशी छत्रीये महासभा के राष्ट्रीय मंत्री प्रेम कुमार जी के टीम में राजीव रंजन कुमारउर्फ जे पी चंद्रवंशी रह चुके है और सभी के साथ समाज में अपना योगदान दिया। समाज के साथ खड़ा रहे हर वक्त। उसके बाद अपने स्वेच्छा से नालन्दा जिला के अध्यक्ष दो टर्म रहे।

राजीव रंजन कुमारउर्फ जे पी चंद्रवंशी अखिल भारतवर्षीय चंद्रवंशी छत्रीये महासभा के बिहार प्रदेश अध्यक्ष रामचंद्र चंद्रवंशी जी के टीम में बिहार भाजपा शहरी निकाय मंच में बिशेस आमंत्रित सदस्य (प्रदेश कार्यसमिति सदस्य) भी रहे हैं।

 

उनकी कहानी यही नहीं समाप्त होती है। राजीव रंजन कुमार उर्फ जे पी चंद्रवंशी का इतिहास बिहार भाजपा अतिपिछड़ा मोर्चा के प्रदेश कार्यसमिति सदस्य रहे हैं।

बिहार भाजपा OBC मोर्चा के निवर्तमान प्रदेश कोषाध्यक्ष भी थे एवं क्षेत्रीय प्रभारी शेखपुरा, नवादा, जमुई जिला।

अखिल भारतीय चंद्रवंशी क्षत्रिय महासभा इकाई की बैठक में राजीव रंजन कुमार उर्फ जे पी चंद्रवंशी की अध्यक्षता में मजबूती पर बल देते हुए सदस्यता अभियान चलाने का निर्णय लिया।

Rajeev Kumar Ranjan alias JP Chandravanshi ka Itihas

राजीव रंजन कुमार उर्फ जेपी चंद्रवंशी को अखिल भारत वर्षीय चंद्रवंशी क्षत्रिय महासभा के जिलाध्यक्ष पद से हटा दिए जाने के मुद्दे पर पुरे समाज के लोग मिलकर वार्तालाप किया और बैठक में उपस्थित चंद्रवंशी समाज के लोगों ने कहा कि राजीव रंजन कुमार को जिलाध्यक्ष के पद से हटा देना चन्द्रवंश समाज के लिए सही नहीं है और न कभी होगा।

 

अगर उन्हें जिलाध्यक्ष पद पर नहीं रखा गया तो जिले के सभी प्रखंडों के अध्यक्ष महासभा से इस्तीफा देदेंगे और जे पी चंद्रवंशी को आगे करके नया संगठन का निर्माण किया जाएगा। मैं आपको बता दू की पूरा चंद्रवंशी समाज राजीव रंजन कुमार उर्फ जे पी चंद्रवंशी को बहुत इज़्ज़त देते है और कोई नया संगठन खड़ा करना कोई बड़ी बात नहीं है।

और यही चीजो को देखते हुए बैठक में समाज के वरिष्ठ शिवनंदन चंद्रवंशी, रामनाथ चंद्रवंशी, नरेश प्रसाद, भूषण प्रसाद, संतोष कुमार, बंगाली प्रसाद, योगेंद्र प्रसाद के अलावा अन्य चंद्रवंशी समाज के लोग शामिल थे।

राजीव रंजन कुमार उर्फ जेपी चंद्रवंशी ने हमेशा समाज के लिए खड़ा मिले। हल फ़िलहाल में फेकन राम के हत्यारों को शीघ्र गिरफ्तार करने और कड़ी सजा देने की मांग बिहार मुख्या मंत्री नितीश कुमार से की।

 

राजीव रंजन कुमार और इनके टीम के साथी के साथ स्व. फेकन राम के परिजनों से मिलकर सांत्वना देने के बाद कहा कि फेकन राम जैसे निर्दोष, ईमानदार , मेहनती एवं अत्यंत गरीब युवक की निर्मम हत्या से पूरा चंद्रवंशी समाज के लोग दुखी और आक्रोशित है।

अगर आपको राजीव रंजन कुमार उर्फ जे पी चंद्रवंशी का इतिहास ( Rajeev Kumar Ranjan alias JP Chandravanshi ka Itihas) पढ़ कर अच्छा लगा तो कमेंट कर के बताये और दुसरो चन्द्रवंश समाज के लोगो को शेयर करे के बताये इनके बारे में।

उनकी ये इतिहास समय समय पर नए इनफार्मेशन के साथ अपडेट होते रहेगा।

 

CATEGORIES
Share This

AUTHORDeepa Chandravanshi

Deepa Chandravanshi is the founder of The Magadha Times & Chandravanshi. Deepa Chandravanshi is a writer, Social Activist & Political Commentator.

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )
error: Content is protected !! Subject to Legal Action By Chandravanshi Inc